URDU SHAYARI

urdu shayari
urdu shayari.... -

Urdu shayari के इस लेख का आगाज एक शायर की माँ बाप पर लिखे भावों से प्रारंभ करता हूँ….

बहुत रोते हैं मगर आँसू नम नहीं होते ….इन आँसुओं के बरसने के कोई मौसम नहीं होते …मैं अपने दुश्मनों के बीच महफ़ूज रहता हूँ, क्योंकि मेरे माँ बाप की दुवाओं के खजाने कभी खाली नहीं होते……………………Shayari क्या है.. जिंदगी है.. शायरी बंदगी है.. सुख है, दुःख है.. मिलना है.. बिछुड़ना है.. एक अहसास है.. इंसान जब भी खुश होता है तब याद आती है और जब भी दुःख हों और कुछ जुबान बोल ना पाए तब कलम के जज्बात ही Urdu shayari है.. जिसकी जैसी भावना है वैसी ही शायरी उसको पसंद आती है.. कोई love shayari पसंद करता है तो कोई sad shayari तो कोई Urdu shaayari on money चाहता है.. कोई रब की रज्जा पर शायरी पसंद करता है.. नेता लोग भी दल बदल और गठबंधन पर और आपसी शिकवे शिकायत पर भी Urdu shayari बोलते रहते हैं… आजकल की शायरी विषयवस्तु में भी बहुत change आ गया है.. शायरी में पहले urdu shaayari शायरी का चलन था पर अब शायरी में भाषा की परास भी बदल गयी है और अब शायरी अब सिर्फ शायरों तक सिमटी नहीं है.. जन मानस के मन में जो आया वो लिखा.. गली के लड़कों की शायरी अलग है और भाषा के जानकारों की शायरी अलग है.. जिसकी जितनी सोच जैसी सोच वैसी ही .शायरी..आवारा प्रेमी कीशायरी की भाषा अलग होगी और एक शायर की shayari on mother अलग ही भाषा होगी.. Love shayari, sad shayari, good morning shayari, romantic shayari, dard bhari shayari, dosti shayari जैसे विविध विषय पर शायर और आम आदमी शायरी लिखता है…. सीसी भरी गुलाब की दे पत्थर की फोड़ दूँ.. दोस्त तेरी याद में खाना पीना छोड़ दूँ… यह आम गरीब, अनपढ़ और मजदूर की शायरी थी जिसको वो दोस्त, पत्नी, love या जरूरत के हिसाब से प्रयोग कर लेते थे.. आम आदमी के दिल के बहुत करीब रही है urdu shayari.. यह शायरी आदमी को प्रेम, दोस्ती, रिश्तों की नयी ऊष्मा देती आयी है.. आज भी शायरी के करोड़ों चाहने और पढ़ने वाले हैं.. शायरी की भाषा में विविधता है.. हिंदी और उर्दू का मिश्रित तड़का शायरी को अलग ही विधा बनाती है.. यह गरीबों का साहित्य है.. जन मानस के प्राण है shayar और शायरी . शायरी पर कभी विस्तृत लेख लिखूँगा.. आज तो मेरे शायरी पर विचार लिखे.. मैंने maa par shayari लिखी है..माँ पर इन. भावों को आप चाहो तो शायरी मान लेना और. चाहो तो कविता मान लेना… कविता हो या शायरी भाव मायने रखता हैं…

  • धर्म करम रीत नीत मेरा सब कुछ थी अम्माजी………. राय मशविरा सब देती पीपल छाँव थी अम्माजी
  • बाबूजी जब बैचैन होते आशा की किरण थी अम्माजी.साल लम्हों में गए संग थी जब अम्माजी
  • होली या दीवाली बेसब्री से इंतजार करती थी अम्माजी….. हम भाई बहिन सलामत रहे ऐसे सजदे करते थी अम्माजी…
  • घर में रौनक सी थी जब तक थी अम्माजी…..चूल्हा चौका सब रूठे हैं कहाँ गयी तुम अम्माजी?
  • सूखी रोटी भी मेवा लगती थी जब तक थी अम्माजी.. मेवे भी फीके लगते हैं जब नहीं है अम्माजी….

URDU SHAYARI में बहुत विविधता है… Urdu shayri को आजकल लोग urdu shayri in hindi में पढ़ना चाहते हैं.. Urdu shayari पर हमने इस आलेख में  विविध शायरों की नज्म का संकलन किया है और कुछ नज्म के रचनाकारों के हमें नाम मालूम नहीं है. आप Urdu shayri के इन फनकारों के नाम हमें जरूर बताएँ…


 

जिंदगी उधार का थैला है …मिल जाए तो मिट्टी है, खो जाए तो सोना है…

मैं रोया परदेस में भीगा मां का प्यार…बिन कागज बिन चिट्ठी बिन ,दिल ने की दिल से बात…

अभी तक जिंदगी गुजरी सवालों ही सवालों में और हमको जो मिलना था मिल गया खयालों ही खयालों में… उगाने थे सूरज तारे भी नहीं उगा पाए…. सुहानी भोर के तट पर गिरे हैं सांझ के साये…..शिकायत है कि हम धनी है …इनायत के भिखारी हैं और मोहब्बत के लिए लिबासों में अदावत के पुजारी हैं…

Urdu shayari प्यार, मोहब्बत, इश्क, जज्बात बेवफाई और अन्य विषय वस्तु में बहुत ज्यादा व्यापक है….

Urdu shayari पर asad अली भी बहुत अच्छी कलम चलाते हैं..

Urdu shayri पर एक फिल्म में प्रयोग की गयी यह नज्म जरूर पढ़ें…

किसने मेरी मजार पर आकर मुस्कुरा दिया.. बिजली चमक कर गिर पड़ी, सारा कफन जला दिया…मैं सो रहा था चैन से ओढ़े कफ़न मजार में ,यहां भी सताने आ गई किसने पता बता दिया….. जीते जी  पूछा ना कभी दर्द जिगर ए  माजरा….अब आई हो मेरी कब्र पर जब खाक में मिला दिया…..

Thoughts about life

u may visit Urdu Hindi Best Shayari – उर्दू और हिंदी के बेहतरीन 20 शेर – Amar Ujala Kavya

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

RECENT POSTS

URDU SHAYARI

urdu shayari
urdu shayari....
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

1 thought on “URDU SHAYARI”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RECENT POSTS