THE REAL STORY HINDI चिड़ीमार

moral story in hindi
The real story hindi.... -

the real story hindi हमें जीने की राह बताती है… एक समय एक चिड़ीमार ने चिड़िया को फंसाने के लिए जाल फैलाया…उस जाल में दो ऐसे पक्षी फंस गए जो हमेशा साथ रहते थे …हमेशा साथ साथ उड़ते थे…. वह दोनों पक्षी उस समय उस जाल को लेकर आकाश में उड़ चले….चिड़ीमार उन दोनों को आकाश में उड़ते देखकर भी निराश नहीं हुआ..जिधर जिधर वह पक्षी जाते, उधर उधर वह उनका पीछा करता रहा और दौड़ता रहा… वन में एक मुनि ने उस समय पक्षियों का पीछा करते हुए उस चिड़ीमार को देखा तो मुनि ने पूछा कि मुझे बड़ा आश्चर्य लगता है कि आकाश में उड़ते हुए उन दोनों पक्षियों का पीछा आप पृथ्वी पर दौड़ कर कर कर रहे हो? आप कभी भी उन पक्षियों को पकड़ नहीं पाओगे तो फिर पीछा क्यों कर रहे हो?

चिड़ीमार ने जवाब दिया यह दोनों पक्ष आपस में अभी मिले हुए हैं और मेरे एकमात्र जाल को लिए जा रहे हैं….लेकिन यह थोड़ी देर बाद में आपस में एक दूसरे से झगड़ेगे तब वह मेरे वश में आ जाएंगे…..

थोड़ी देर बाद दोनों पक्षी आपस में झगड़ने लगते हैं और लड़ते-लड़ते पृथ्वी पर गिर पड़े …जब मौत के फंदे में फंसे हुए आपस में नाराज होकर के एक दूसरे से लड़ रहे थे, उसी समय उस चिड़ीमार ने चुपचाप उनके पास जाकर उन दोनों को पकड़ लिया…..

विदुर नीति का यह संदर्भ परिवार पर बहुत अच्छे तरीके से लागू होता है…. Hindi कहानी हमें बताती है कि जैसे जलते हुए कास्था अलग अलग कर दिए जाने पर जल नहीं पाते हैं केवल धुआँ देते हैं और आपस में मिल जाने पर प्रज्वलित हो उठते हैं…..उसी प्रकार कुटुंबी जन आपस में फूट के कारण अलग अलग रहने पर कमजोर हो जाते हैं और आपस में संगठित होने पर बहुत बलवान तेजस्वी हो जाते हैं और दुनिया में कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता है… Union is strenth इसी को कहते हैं…. पढ़ते रहें ऐसी the real story hindi कहानी www.shreeumsa.com पर…

Hindi story with moral

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

RECENT POSTS

THE REAL STORY HINDI चिड़ीमार

moral story in hindi
The real story hindi....
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RECENT POSTS