Inspirational stories जो आपको जीवन के सारे भेद बता दे

inspirational stories
-

Inspirational stories को हम बाहर तलाश करते हैं जबकि कस्तूरी मृग की तरह सारी success और success story और motivation हमारे भीतर कूट कूट कर भरा हुआ है.. आज की hindi story कोई story नहीं है वरन आपकी ख़ुद से मुलाकात होगी… एक बार की बात है एक राजा ने घोषणा करवाई की जो भी कलाकार मुर्गे का सबसे अच्छा चित्र बनायेगा.उसे मुँह माँगा ईनाम दिया जायेगा.. दूर दूर से चित्रकार आते हैं और एक से बढ़कर एक चित्र बनाते हैं.. राजा ने एक बुजुर्ग चित्रकार को सर्वोत्तम चित्र का चयन करने को कहा.. बुजुर्ग चित्रकार ने काफी देर मुवायना किया और बोला राजा से की सारे चित्र बेकार है.. राजा ने कहा की आपके rejection के क्या पैमाने हैं.. चित्रकार ने कहा की मैं असली मुर्गे को सारे चित्रों के पास ले गया.. एक भी चित्र को देखकर असली मुर्गे ने reaction नहीं दिया.. ना घबराया, ना ख़ुश हुआ, ना कोई बांग दी.. ना आँखों में कोई भाव.. एक भी चित्र में मुर्गे को मुर्गा नहीं दिखा.. राजा ने कहा की कमी निकालना आसान है.. आप बनावो अब तो ऐसा चित्र.. बुजुर्ग चित्रकार ने कहा इसके लिए मुझे पहले ख़ुद मुर्गा बनना पड़ेगा और मुझे तीन चार साल का समय दो… राजा हाँ कह देता है.. समय बीत जाता है.. एक दिन वो बुजुर्ग चित्रकार दरबार में आता है.. राजा कहता है की यह क्या हूलिया बना रखा है.. बुजुर्ग चित्रकार कहता है कुकड़ कूं कुकड़ कूं… राजा कहता है पागल हो गए हो गए हो क्या? मुर्गे का वो चित्र कहाँ है? बुजुर्ग चित्रकार थोड़ी ही देर में साधारण सा चित्र बना देता है.. अब जीवित मुर्गे को पास में लाया जाता है.. उस चित्र को देखके असली मुर्गा चित्र पर चोंच मारने लगता है.. आवाज करने लगता है.. उसकी आँखो में ऐसा भाव आता है की चित्र उसकी जमात का ही है.. राजा चित्रकार से पूछता की यह सब कैसे हुआ.. उसने जवाब दिया की बाकि चित्रकारों ने जो चित्र बनाये.. वो कभी मुर्गे के पास ही नहीं गए.. उनके चित्रों में कलाकारी तो थी पर naturality नहीं थी.. मैं रात दिन मुर्गों के साथ रहा.. मुर्गा बनकर रहा.. दोस्तों! यही success है… Success और success story अन्दर थी.. बाहर कहाँ मिलती inspirational stories? हम बचपन में बार बार मुर्गा बनते थे.. आसानी से बन जाते थे.. कोई कोई तो घंटो मुर्गा बना रहता और मास्टर जी भी बनाकर भूल जाते… खैर आज कहने का मतलब सिर्फ इतना ही है जो करना है उसमे डूब जाओ.. गीत, संगीत, सिविल सेवा, राजनीति, खेती, business, फिल्म, pvt job या कुछ भी करो मगर मुर्गा सा बन जावो.. Inspirational stories पर यह लेख पसंद आया तो इसको share करें ताकि और लोग भी मुर्गा बन सके…

Maa कहो या mom मतलब तो ममता की नदी है

जीवन का झूला आज जितना पीछे हैं आप उतना ही आगे जायेंगे

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

RECENT POSTS

Inspirational stories जो आपको जीवन के सारे भेद बता दे

inspirational stories
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

3 thoughts on “Inspirational stories जो आपको जीवन के सारे भेद बता दे”

  1. Pingback: Money and Money Earnings - The story about human nature

  2. Pingback: फ़िल्म अभिनेता इरफान खान का निधन - ShreeUMSA.com

  3. Pingback: फ़िल्म अभिनेता इरफान खान hindi film and irphaan khan

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RECENT POSTS