सब कुछ विश्वास ही तो है

in GOD WE TRUST
विश्वास से ही सारे काम होते हैं... -

In God we trust

In God we trust? दोस्तों लोग कहते हैं की संकट में भगवान आते क्यों नहीं? But मेरा सवाल है की in God we trust क्या हम भरोसा करते हैं? ईश्वर तो पल पल साथ हैं.. यह बात और है की with God quotes यानि भगवान पर भरोसा कितना है हमारा…. आप और हम काम हो जाने पर या संकट निपट जाने पर कितनी बार बोले हैं की प्रभु आपकी दया से मेरा सब काम हो रहा है..

With God all things are possible

In God we trust का पलड़ा कितना भारी है.. एक आदमी का एक्सीडेंट हो जाता है और वह पहाड़ी से गिर जाता है ..वह आदमी भगवान को पुकारता है.. इतने में उसे एक सहारे के रूप में टेहनी मिल जाती है.. वो आदमी कहता है की God जब इतनी हेल्प की है तो थोड़ी और कर दो… आवाज आई की कूद जावो… पर वही सवाल God photos और God image पर विश्वास है लेकिन God ख़ुद आकर के खड़ा हो जाए तो ना आँखे देखे को मानेगी और ना कान भरोसा करेंगे…. खैर! वो आदमी एक बार और चिल्लाया की भगवान थोड़ी और मदद करो… आवाज आई की कूद जावो नीचे… पर आदमी के जची नहीं बात…. IN GOD WE TRUST …भगवान को कोस रहा.. वो आदमी पूरी रात लटका रहा टेहनी के सहारे.. शरीर पूरा अकड़ गया.. पल पल लगा की अब मरा.. अब मरा… इतने में सूरज की रोशनी के साथ उसकी आँखो ने जो देखा उसे विश्वास नहीं हुआ.. उसने देखा की वह तो जमीन से बस कुछ ही फीट उपर है.. वह नीचे कूद जाता है.. बच जाता है पर पूरी रात भगवान से शिकायतों में ही बीती… हम God is great मानते हैं पर कहने को और बोलने को मानते हैं.. हम दिल से और आस्था व विश्वास की रेखा पर एक दो बार काम सिद्ध नहीं होने पर ही विश्वास डगमग कर देते हैं की God is great?

To God be the glory

To God be the glory , In God we trust यानि क्या हम बिना स्वार्थ कभी ईश्वर की महिमा गाते हैं.. हम वैसे तो मैं मैं बकरी ज्यों रटते हैं और थोड़ा सा संकट आने पर और काज पूरा नहीं होने पर कोसने लगते हैं.. क्या ईश्वर किसी लाले की दुकान है जहाँ आप उसके माल पर मिलावट होने पर शिकायत कर सको… ईश्वर बहुत अलग है.. तभी तो वो परमेश्वर है.. ईश्वर को खुश करना है.. बहुत आसान है.. बात बात में my God बोलना अलग बात है और सच में with God quotes में विश्वास अलग है..

God is good और God is great

Good is good In God we trustऔर God is great… ईश्वर से बड़ा कोई सत्य, शिव, सुन्दर, नेक, दयालु, मानवीय, करुणामय और पूर्ण नहीं है… हम इंसान तो खोखले और अधूरे हैं और शिकायतों के पुतले हैं

In God we trust पर एक कहानी सुनाता हूँ जो आपको कुछ सोचने को विवश कर देगी…

एक आदमी समंदर के किनारे बैठा उदास…..भगवान को कोस रहा था कि हे भगवान ! आप मेरी हेल्प नहीं करते.. इतने में एक साधु निकलता है पास से और एक पोटली फेंक जाता है.. वह आदमी पोटली को टच करता है और उसको लगता है की कंकड़ है.. अब वह भगवान को कहता है की कौन कहता है की प्रभु दयालु है और हमारा दर्द समझता है.. वह पूरी रात उदास बैठा भगवान को कोसता रहा.. एक एक कर पोटली में रखे कंकड़ को धीरे धीरे time pass के लिए फेंकता रहा समन्दर में… सुबह की सूर्य की किरण के साथ हाथ में अंतिम कंकड़ को फेंकने वाला ही होता है की उसे पता चलता है की यह कंकड़ नहीं हीरे हैं.. अब वो क्या करे.. सारी पोटली के हीरे फेंक चुका था… अब तक वो सारे हीरे गँवा चुका था….. In God we trust. ईश्वर के हाथ हजार है और हमें हजारों मौके देता है ईश्वर पर हम पहचान नहीं पाते हैं…WWW.shreeumsa.com…कोई बात अच्छी लगे तो share करना ना भूलें….

सफलता का सार क्या है

Google god and God quotes

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

RECENT POSTS

सब कुछ विश्वास ही तो है

in GOD WE TRUST
विश्वास से ही सारे काम होते हैं...
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

6 thoughts on “सब कुछ विश्वास ही तो है”

  1. Pingback: क्या है जीवन और दर्शन - ShreeUMSA.com

  2. बहुत खूब , बस ईश्वर में सच्ची श्रद्धा से सारे काम हो जाते हैं , हम वो मांगते हैं जो हमारे पास नहीं , ईश्वर वो देता है जिसकी हमें सचमुच जरूरत है ।
    चारों ओर नजर दोड़ायें , सब मांगते नजर आयेंगे ।
    नि:संतान संतान मांगते हैं , संतान वाले संतान संतान की सफलता मांगते हैं , उनके लिए योग्य जीवन साथी मांगते हैं , फिर पीढियों का संरक्षण मांगते हैं और … … .. सिलसिला चलता जा रहा है ।
    किसान बरसात मांगता है , ईंट मजदूर बरसात नहीं हो मांगता है ,
    कर्मचारी अधिकारी मनमाफिक पोस्टिंग मांगता है , बच्चा स्कूल से छुटी मांगता है ।
    सेठ व्यापार में तरक्की मांगता है और किसी टैक्स विभाग वाले का छापा ना पड़े यही मांगता है ।
    बीमार स्वास्थ्य मांगता है और प्राइवेट होस्पीटल और मेडिकल स्टोर वाला मांगता है कि उसका होस्पीटल और मेडिकल अच्छा चले ।
    कुछ भौतिक जीवन से संन्यास मांगते हैं फिर सन्यासी बनकर राजसी ठाटबाट मांगते हैं ।
    नेता पहले चुनाव जीत जाऊं मांगता है , फिर मंत्री बन जाऊं यह मांगता है और मंत्री बनने पर सरकार सलामत रहे यह मांगता है ,
    बदमाश मांगता है कि पुलिस उसे पकड़ ना पाये , और पकड़ा जाता है तो मांगता है कि जेल में ही सुरक्षित रहे कहीं पुलिस एनकाउंटर ना कर दे ।
    दुनिया अजीब नजारा है ।
    सचमुच यह जीवन मंगतो का संसार है , बस प्रभु दर्शन की लालसा वाले मंगते कम हैं ।

    1. Mahipal Singh Charan

      aaj aapne jaan daal di hai….jyaada paathak nahi chahiye bus aap jaise 10 mil jaye…shreeumsa ka hona kafi hoga

  3. Pingback: Short moral story in hindi छोटी छोटी बात पर एक भी नहीं बकवास...

  4. Pingback: Thoughts in hindi सबसे खूबसूरत है चेहरे की मुस्कान..यह मुस्कान वही रख पाते हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RECENT POSTS