मेहनत कभी भी बेकार नहीं जाती

मेहनत कभी भी बेकार नहीं होती -

एक महाराज एक बूढ़ी औरत के घर रोज़ खाना मांगने के लिए जाते.. औरत थोड़ी सनकी थी.. महाराज को खाना देना तो दूर उनको रोज़ अपमानित करती.. पड़ोस के लोग कहते कि महाराज क्यों इससे रोज़ अपमानित होते हो? एक घर छोड़ दो.. महाराज बोले कि मेरा कर्म &धर्म है याचना.. मना करे तो करे.. महाराज हिम्मत नहीं हारते हैं.. एक दिन बूढ़ी औरत गुस्से में आग बबूला बाहर निकली और महाराज की झोली में एक बड़ा सा पत्थर दे मारा.. महाराज बोले कोई बात नहीं माई! इतने समय बाद भाटा दिया है कभी आटा भी दोगी… मित्रो! धैर्य और कर्म बड़ी बात है… मेरे दादीसा बचपन में एक कहानी सुनाते थे.. एक आदमी बहुत आलसी था.. पड़ा रहता.. काम का ना काज का दुश्मन अनाज का.. एक दिन पत्नी ने चेतावनी दे कि आज कमाकर लाना.. खाली हाथ लौट आये तो आज भूखे ही रहना.. वो बेचारा इधर उधर गया पर कोई काम नहीं मिला.. अंत में थका हारा बेचारा चिंता में पड़ गया.. आज तो पत्नी खाना नहीं देगी.. क्या लेकर जाऊँ? कुछ लेजाने लायक भी तो नहीं दिख रहा.. इतने में उसको सामने मरा साँप दिखाई दिया.. उसने सोचा कुछ नहीं से तो यह साँप लेकर ही चला जाऊँ.. घर जाकर पत्नी को बताया कि बहुत मेहनत की पर कुछ नहीं मिला.. अंत में यह साँप मिला.. क्या करता इसको ले आया.. पत्नी बोली कि धर्म गर्न्थो में कर्म की महिमा बताई है.. ईश्वर ने आज यही लिखा था भाग्य में… हो सकता है इसमे ही कुछ अच्छा हो.. पत्नी ने पतिदेव को कहा कि साँप को छत पर फेंक आवो.. शाम को कुछ सोचेंगे कि क्या करना है… पति छत पर साँप को ले जाता है.. इसी दौरान एक बाज़ आता है जिसे मुँह में diamond का हार था.. साँप को देखकर बाज़ उस हार को फेंक देता है और मरे साँप को मुँह में पकड़कर ले जाता है… दोस्तों! कर्म की महिमा का इससे अच्छा उदाहरण नहीं हो सकता… कर्म कभी भी बेकार नहीं जाता.. मेहनत हमेशा रंग लाती है… सिर्फ और सिर्फ कर्म और अपना काम करते रहिए…….

भिखारी,राजा और जिंदगी

हाथी आप और हम

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

RECENT POSTS

मेहनत कभी भी बेकार नहीं जाती

मेहनत कभी भी बेकार नहीं होती
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

5 thoughts on “मेहनत कभी भी बेकार नहीं जाती”

  1. कर्म की महिमा को बहुत सुन्दर ढंग से समझाया सर

  2. कर्म की महिमा प्रेरणादायक प्रसंग
    गीता सार जैसा

  3. Pingback: hindi story that change your life and thought in everyday life

  4. Pingback: hindi kahaniyan that change your life and thought in everyday life

  5. Pingback: How to be happy ;10WAYS TO BE happier सोने का हिरण, श्री राम और

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RECENT POSTS